Monday, July 16, 2012

शायरी- ये खूबसूरत लोग (Shayari- Ye khoobsoorat log...)

ये खूबसूरत लोग, जो कसते हैं मुझपर फब्तियां,
मेरे आशिक़ाना मिजाज़ के पीछे इन्ही का हाथ है।
जिस रोज इनको छोड़ दें तरसेंगे ये तारीफ़ को,
ये तो दिल बड़ा है अपना वरना इनकी क्या औकात है।।


                                                             शायर- डॉ0 कृष्ण एन0 शर्मा