Wednesday, March 5, 2014

SSS मित्रों (Single n Still Searching) के लिए ख़ास...

हमारे SSS मित्रों (Single n Still Searching) के लिए ख़ास.
___________________________________________
ख़ुदाया सब पे आया, मुझ पे भी कुछ नूर आ जाये जाये,
कभी लंगूर के मुँह में भी इक "अंगूर" आ जाये,
बस इस उम्मीद में हर शाम चौराहे पे कटती है,
न जाने किस गली से मेरी वाली हूर आ जाये।
___________________________________________
(नोट: कृपया egoistic लोग इसे ना पढ़ें... अच्छा पहले ही पढ़ लिया क्या? :D :P )

Dr. Krishna N. Sharma